"किसानों का हित सर्वोपरि परन्तु अकारण ही व्यापारियों को परेशान नहीं होने दिया जाएगा : बिसेन"

Image

भोपाल। श्री गौरीशंकर बिसेन, किसान कल्याण तथाकृषि विकास मंत्री ने मध्यप्रदेश के कृषि आदान व्यापारएवं व्यापारियों से जुड़े पाँच संगठनों के एक प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि किसानों का हित सर्वोपरिहै परन्तु अकारण ही व्यापारियों को परेशान नहीं होनेदिया जायेगा। यह सुनिश्चित किया जायेगा कि जिले केअधिकारी अमानक कृषि आदानों को नकली घोषित नकरें और नियमानुसार ही उचित कार्यवाही करें।

पाँच संगठनों मध्यप्रदेशबीज एवं कीटनाशक विक्रेतासंघ, इंदौर पेस्टीसाइड्समेन्युफेक्चरिंग एसोसिएशन,म.प्र. बीज एसोसिएशन, इंदौरजिला उर्वरक संघ और एग्रीटेकएम्लाइज वेलफेयर सोसायटीकी ओर से मुख्यमंत्री श्रीशिवराजसिंह चौहान, किसानकल्याण तथा कृषि विकास मंत्रीश्री गौरीशंकर बिसेन, प्रदेशभाजपा अध्यक्ष श्री नंदकुमारसिंह चौहान, प्रदेश संगठन मंत्रीश्री सुहास भगत से भेंटकर उन्हेंसंयुक्त ज्ञापन सौंपा। श्रीनंदकुमार सिंह चौहान, प्रदेशअध्यक्ष, भाजपा म.प्र. नेप्रतिनिधिमंडल को आश्वस्तकिया कि नियमों से परे जाकरप्रदेश के किसी भी व्यापारी कोअनावश्यक परेशान नहीं होनेदिया जायेगा। लेकिन किसानोंके हितों में नकली कृषि आदाननिमार्ताओं और विक्रेताओं परकार्यवाही जारी रहेगी। ज्ञापन केमाध्यम से संगठनों ने बताया किजिलों में कृषि आदानों काविक्रय कर रहे व्यापारियों परअमानक कृषि आदानों कोनकली उत्पाद बताकर किसानकल्याण तथा कृषि विभाग केअधिकारी एफ.आई.आर. कररहे हैं। अमानक उत्पादों कोनकली उत्पाद घोषित करके उसेजघन्य अपराध बतलाते हुएव्यापारियों पर एफ.आई.आर.का दबाव बना रहे हैं। यहां तककि पुराने वर्ष के प्रकरणों पर नयेआदेश देकर सीधे पुलिस कीकार्यवाही करने का आदेशदेकर भी व्यापारियों को परेशानकिया जा रहा है। इससे समूचेप्रदेश के कृषि व्यापारियों में रोषके साथ डर व्याप्त है। संगठन नेकहा कि बीज, उर्वरक औरकीटनाशकों के संबंध में भारतशासन द्वारा बनाये गयेअधिनियमों के अन्तर्गत कृषिविभाग द्वारा की जा रही कार्यवाहीका वे समर्थन करते हैं। लेकिनपिछले दो वर्षों के अमानक नमूनोंकी फाइलें खुलवाकर व्यापारियोंपर एफ.आई.आर. दर्ज कराकरबेवजह दबाव बनाकर परेशानकिया जा रहा है। प्रतिनिधिमंडल ने कृषि उत्पादन आयुक्त,म.प्र. शासन श्री पी.सी. मीणाऔर प्रमुख सचिव किसानकल्याण तथा कृषि विकासविभाग, म.प्र. शासन डॉ. राजेशकुमार राजौरा से भी भेंट की।प्रतिनिधि मंडल ने स्पष्ट कियाकि किसानों के हित में वेडुप्लीकेट और नकली उत्पादनिमार्ताओं और विक्रेताओं केविरुद्ध शासन के साथ हैं। इसकेअलावा शासन जिले केअधिकारियों को निर्देश दे कि वेअमानक और नकली कीपरिभाषा में भेद करें।